ABVP's Press Release on SC's decision on Triple Talaq

तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक निर्णय एक सुधारवादी कदम : विनय बिद्रे (राष्ट्रीय महामंत्री, अभाविप)                              22.08.2017 


आज माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा तीन तलाक को असंवैधानिक घोषित करने का निर्णय एक सुधारवादी, प्रगतिशील व समतामूलक कदम है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इस ऐतिहासिक निर्णय का स्वागत करती है। हमें विश्वास है कि महिलाओं को भारतीय संविधान प्रदत्त समानता के अधिकार के पूर्ण क्रियान्वयन की दिशा में यह एक बड़ा कदम सिद्ध होगा। 

आज का युवा कुरीतियों से मुक्त समाज बनाने हेतु संकल्पित है व आज आया निर्णय युवा भारत के उस संकल्प की दिशा को बुलंद करने वाला है। 
अभाविप केंद्र सरकार से मांग करती है कि तीन तलाक के खिलाफ तुरंत संसद द्वारा कानून बनाने की पहल करे। साथ ही, सभी राजनैतिक दलों से अपील करती है राजनीतिक गुणा-भाग से ऊपर उठकर ऐसे कानून का समर्थन करें।