ABVP demand to include AYUSH professionals in Covid duties fulfilled

      दिनांक: 8 मई 2021

-: प्रेस विज्ञप्ति :-

कोरोना सेवाओं में 8 लाख आयुष चिकित्सकों को शामिल किया जाना स्वागतयोग्य: अभाविप

2 मई को प्रधानमंत्री को प्रेषित पत्र में अभाविप ने उठाई थी मांग

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कोरोना के सेवा कार्यों में 8 लाख आयुष चिकित्सकों को शामिल करने के निर्णय  को महत्वपूर्ण मानती है तथा सरकार के इस निर्णय का स्वागत करती है।

विदित हो की अभाविप ने 2 मई को कोरोना महामारी के विरुद्ध विद्यार्थी तथा युवा-समुदाय के सुझावों को लेकर माननीय प्रधानमंत्री को एक सुझाव पत्र सौंपा था जिसमें एक सुझाव आयुष के अन्तर्गत आने वाले बी.ए.एम.एस., बी.एच.एम.एस. सहित सभी विधाओं के कुल 8 लाख चिकित्सकों को कोविड-19 सेवाओं में लगाने के लिये था। केन्द्र सरकार ने अभाविप के इस सुझाव को मानकर कोरोना के सेवा कार्यों में 8 लाख आयुष चिकित्सकों को शामिल करने का निर्णय दिया है जो चिकित्सा क्षेत्र के लिए अत्यंत ही महत्वपूर्ण तथा राहत योग्य निर्णय सिद्ध होगा।

अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री सुश्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि, “आयुष चिकित्सकों को कोरोना सेवा कार्य में जोड़ने के केन्द्र सरकार के निर्णय का स्वागत करते हैं। कोरोना की द्वितीय लहर में चिकित्सा क्षेत्र में पहले से सेवा दे रहे कर्मियों पर अतिरिक्त भार आया हैं। बढ़ते मामलों को देखते हुये महत्वपूर्ण था की इस वर्ष उत्तीर्ण हुये आयुष चिकित्सकों को कोरोना सम्बन्धी स्वास्थ्य सेवाओं में जोड़ा जाये।

 

 

    Date: 8th May, 2021

-: Press Release: -

                ABVP welcomes deployment of 8 lakh AYUSH Professionals for COVID-19 duties

ABVP in its letter put forth this demand to the Hon’ble PM on 02 May 2021

 

Akhil Bharatiya Vidyarthi Parishad welcomes the Central Government’s momentous decision to deploy nearly 8 lakh AYUSH professionals for COVID-19 duties.

It is pertinent to mention that on 02 May 2021, ABVP, in its memorandum of suggestions addressed to the Hon’ble Prime Minister, based on wide-ranging interactions with the youth and student community, had included the suggestion to deploy nearly 8 lakh practitioners of BAMS, BHMS and similar programmes for COVID-19 care and relief works. The Union Government’s decision, based on ABVP’s recommendation will go a long way in alleviating the stress on the nation’s health infrastructure.

Nidhi Tripathi, National General Secretary, ABVP, said, "We welcome the decision of the Central Government to deploy AYUSH practitioners for COVID-19 care and relief works. The second wave of the pandemic has put medical professionals under tremendous pressure. In view of the steep rise in the number of COVID-19 cases, AYUSH medical practitioners graduating in this year should be deployed to assist with COVID-19 care efforts expeditiously.”